• मुख्यपृष्ठ
  • परिचय
  • - अवलोकन
  • - कर्तव्य और दायित्व
  • - पूर्व निदेशक एवं कार्यकाल
  • - हमारे प्रकाशन 2018
  • - कार्यक्रम और दिशानिर्देश
  • - केंद्रीय हिंदी निदेशालय एक परिचय
  • कोश
  • -- भारतीय
  • --- एक भाषा कोश
  • ---- बृहत् हिंदी कोश खंड - 1,2
  • ---- अभिनव हिंदी कोश
  • ---- हिंदी लेखक संदर्भिका
  • --- द्विभाषा कोश
  • ---- भाषा मूलक
  • ---- हिंदी मूलक
  • --- त्रि-भाषा कोश
  • ---- भाषा मूलक
  • ---- हिंदी मूलक
  • --- बहुभाषी कोश
  • ---- भारतीय भाषा कोश
  • -- विदेशी
  • --- विदेशी एक भाषा कोश
  • ---- समेकित हिंदी-यू.एन. भाषा शब्दकोश
  • --- विदेशी द्विभाषा कोश
  • ---- भाषा मूलक
  • ---- हिंदी मूलक
  • --- विदेशी त्रि-भाषा कोश
  • ---- भाषा मूलक
  • ---- हिंदी मूलक
  • --- विदेशी बहुभाषा कोश
  • ई-प्रकाशन
  • - वार्तालाप पुस्तिका
  • -- भारतीय
  • -- अंग्रेजी हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- असमिया हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- डोगरी हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- अंग्रेजी वार्तालाप पुस्तक
  • -- पंजाबी हिंदी पंजाबी वार्तालाप पुस्तक
  • -- मराठी हिंदी मराठी वार्तालाप पुस्तक
  • -- तमिल-हिंदी-तमिल वार्तालाप पुस्तक
  • -- मलयालम-हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- नेपाली हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी बांग्ला वार्तालाप पुस्तक
  • -- बांग्ला हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- उड़िया हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी तेलुगू हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- विदेशी
  • -- हिंदी-कोरियाई वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-अरबी वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-नेपाली वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-चेक वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-बुल्गारियाई वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-फारसी वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-रूसी वार्तालाप पुस्तक
  • -- हंगेरियन-हिंदी वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-रोमानियाई वार्तालाप पुस्तक
  • -- हिंदी-पोल्स्की वार्तालाप पुस्तक
  • - स्वयं शिक्षक
  • -- बांग्ला-हिंदी स्वयं शिक्षक
  • -- मलयालम-हिंदी स्वयं शिक्षक
  • -- उड़िया-हिंदी स्वयं शिक्षक
  • -- हिंदी-तमिल स्वयं शिक्षक
  • -- हिंदी-कोंकणी स्वयं शिक्षक
  • -- कन्नड-हिंदी स्वयं शिक्षक
  • -- तमिल-हिंदी स्वयं शिक्षक
  • -- हिंदी स्वयं शिक्षक (अंग्रेजी-माध्यम)
  • - ए बेसिक ग्रामर ऑफ मॉडर्न हिंदी
  • भारतीय निबंध
  • - देवनागरी लिपि तथा हिंदी वर्तनी का मानकीकरण
  • ई-जर्नल
  • - भाषा
  • - वार्षिकी
  • - साहित्यमाला
  • - विशेषांक भाषा
  • पत्राचार पाठ्यक्रम
  • - हिंदी सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम
  • - हिंदी डिप्लोमा पाठ्यक्रम
  • - एडवांस हिंदी डिप्लोमा
  • परीक्षा पत्र 2017
  • परीक्षा पत्र 2018
  • सिविल सेवा हिंदी पाठ्यक्रम
  • सिविल सेवा हिंदी पाठ्यक्रम उत्तर पत्र
  • - आवेदन पत्र
  • - परीक्षा आवेदन पत्र 2019
  • डाउनलोड
  • गैलरी
  • संपर्क करें
  • कर्तव्य और दायित्व




    क. हिंदी का विकास

    1. शब्दकोश एवं विश्वकोश का निर्माण
    2. हिंदी एवं अन्य भारतीय भाषाओं के तुलनात्मक व्याकरण का निर्माण
    3. प्रकाशकों के सहयोग से लोकप्रिय पुस्तकों को प्रकाशित करना
    4. विश्वविद्यालयों एवं उच्च शिक्षा संस्थानों द्वारा हिंदी भाषा एवं साहित्य के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों का समन्वय करना


    ख. देवनागरी लिपि
    1. देवनागरी लिपि तथा हिंदी वर्तनी का मानकीकरण करना
    2. परिवर्धित देवनागरी का विकास एवं प्रचार करना
    3. भारतीय भाषाओं की कुछ चुनिंदा रचनाओं को डिजिटल रूप में तैयार करना


    ग. हिंदी का संवर्धन
    1. द्विभाषी प्रवेशिकाओं (प्राइमर्स) का निर्माण
    2. विदेशियों के लिए हिंदी प्रवेशिकाओं (प्राइमर्स) का निर्माण
    3. भाषा के विभिन्न पाठों के सीडी तथा डीवीडी तैयार करना
    4. हिंदीतर भाषी क्षेत्रों में हिंदी पुस्तकों का नि:शुल्क वितरण
    5. हिंदी सूचना केंद्र


    घ. पत्र-पत्रिकाएँ
    1. भाषा (द्विमासिक)
    2. वार्षिकी
    3. साहित्यमाला


    इ. विस्तार कार्यक्रम
    1. हिंदी विद्वानों की प्राध्यापक व्याख्यान माला
    2. हिंदीतर भाषी क्षेत्रों के हिंदी भाषी विद्यार्थियों की छात्र अध्ययन यात्रा
    3. हिंदीतर भाषी हिंदी नवलेखक शिविर
    4. राष्ट्रीय संगोष्ठी
    5. शोध छात्र यात्रा अनुदान


    च. पुरस्कार
    1. हिंदीतर भाषी हिंदी लेखक पुरस्कार
    2. शिक्षा पुरस्कार


    छ. हिंदी परीक्षाओं की मान्यता संबंधी कार्य


    ज. हिंदी में पत्राचार पाठ्यक्रम
    1) प्रबोध, प्रवीण, प्राज्ञ
    2) हिंदी सर्टिफिकेट
    3) हिंदी डिप्लोमा
    4) एडवांस हिंदी डिप्लोमा
    5) सिविल सेवा हिंदी पाठ्यक्रम


    झ. हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए स्वैच्छिक हिंदी संस्थाओं को वित्तीय सहायता
    1. हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए वित्तीय सहायता।
    2. हिंदी के प्रकाशन के लिए वित्तीय सहायता।


    ञ. हिंदी पुस्तकों का नि:शुल्क वितरण

    ट. पुस्तक प्रदर्शनी एवं बिक्री
    निदेशालय का मुख्यालय नई दिल्ली में है। इसके चार क्षेत्रीय कार्यालय चेन्नई, हैदराबाद, गुवाहाटी, कोलकाता में है।